Health

खून बढ़ाने के लिए अपने खाने में शामिल करें यह फूड

Khoon badhane ke upay : मानव शरीर को स्वस्थ रखने के लिए रक्त आवश्यक जरूरत में से एक है। जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्व को पहुंचाने का काम करता है। इसके साथ ही या कार्बन डाइऑक्साइड और अन्य विषैले पदार्थों को भी शरीर के अंगों जैसे कि किडनी फेफड़े एवं पाचन तंत्र से निकालकर शरीर से बाहर करता है। इसके साथ ही शरीर में होने वाले इन्फेक्शन से भी बचाता है। यह हार्मोन के लिए कैरियर का भी काम करता है। यदि शरीर में खून की कमी है हिमोग्लोबिन की कमी हो जाती है तो कई स्वस्थ संबंधी समस्याएं शरीर में उत्पन्न हो जाती है। आज के इस आर्टिकल में हम शरीर में खून बनाने (Khoon badhane ke upay) वाले खाद्य पदार्थ एवं रोजाना की डाइट के द्वारा कैसे इसकी मात्रा को बढ़ा सकते हैं इस विषय में बताने जा रहे हैं।

यह भी पढ़े : इन तरीकों से मिलेगा सर दर्द से तुरंत आराम

शरीर में खून बढ़ाने वाले आहार (Khoon badhane ke upay)

शरीर में खून को बढ़ाने (Khoon badhane ke upay) वाले सहार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। निश्चय ही भारतीय हार में ऐसे कई खाद्य प्रदार्थ शामिल होते हैं जिनसे हीमोग्लोबिन या खून को बढ़ने में फायदा पहुंचता है। तो आइए हम जानते हैं कि खून को बढ़ाने के लिए आपको क्या-क्या खाना चाहिए।

खमीर युक्त आहार : भारत में ज्यादातर लोग विटामिन B12 की कमी से ग्रसित होते हैं और इसकी बहुत ज्यादा मात्रा में कमी होने के कारण पेरनीसीयस एनीमिया हो सकता है। यह खून की कमी की गंभीर बीमारी है साथ ही बैगनवा शाकाहारी आहार में विटामिन बी 12 की मात्रा काफी कम पाई जाती है। ऐसे में यह फॉर्मेटेड फूड कुछ हद तक आपकी विटामिन बी 12 की आवश्यकता को पूरा कर सकते हैं। दिन में अपने आहार में इनफॉर्मेटिक्स फूड में से एक अवश्य खाएं। इसे आप चाहे तो नाश्ते में इडली सांभर या शाम के समय ढोकला आदि के साथ खा सकते हैं। इसके अलावा आचार, डोसा, ढोकला, मट्ठा, दही चावल आदि भारत के अलग-अलग इलाके में बनने वाले आहार है। जो आप अपने अलग अलग स्वाद एवं गुणों के अनुसार इस्तेमाल में ला सकते हैं और इसका फायदा अपने खून बढ़ाने (Khoon badhane ke upay) के लिए कर सकते हैं।

काबुली चना – शाकाहारी व्यक्तियों के लिए स्वादिष्ट और लौह तत्व का अच्छा स्रोत काबुली चना है। आप इसे अपनी सब्जी, पास्ता, पुलाव, सलाद इत्यादि में मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं। यदि आपको इसका स्वाद पसंद नहीं है तो आप इसका प्युरी बनाकर इसे हम्मस के रूप में इस्तेमाल कर सकते है, इसमें नींबू का रस मिला कर इसका इस्तेमाल करने से विटामिन सी की मात्रा बढ़ जाती है जो कि फलियों में पाए जाने वाले नॉन-हेम आयरन के अवशोषण में मदद करता है।

गुड : भोजन करने के पश्चात गुड़ का सेवन करना भारतीय मिठाइयों में सबसे प्राचीन है गुड़ का प्रयोग प्रतिदिन करने से किसी भी रुप से खून की कमी हो जाने का खतरा नियंत्रित रहता है। फोलिक एसिड और आयरन दोनों की कमी से खून की कमी हो जाता है। गुड इन दोनों विटामिंस और खनिज का सर्वोत्तम स्रोत माना जाता है। गुड़ का प्रतिदिन सेवन करने से इन दोनों की कमी को पूरा किया जा सकता है। गुड में इन तथ्यों के साथ-साथ मैग्नीशियम, पोटेशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और जिंक जैसे महत्वपूर्ण तत्व भी पाए जाते हैं। जो कि खून को साफ (Khoon badhane ke upay) करने में मदद करते हैं। गुड़ का प्रयोग प्रतिदिन करने से आपकी त्वचा मुलायम और स्वस्थ चमकदार हो जाती है।

तिल : भारत में तिल का उपयोग काफी ज्यादा मात्रा में होता है। तिल में आयरन कॉपर, फास्फोरस, विटामिन ई, और जिंक जैसे महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं। एक कातिल में 20 ग्राम आयरन की मात्रा पाई जाती है जो आपके प्रति दिन के आयरन (Khoon badhane ke upay) की जरूरत को पूरा करने में मदद करता है। तिल का प्रयोग आप अपने एनर्जी बार, चिक्की, सलाद, लड्डू के रूप में भी कर सकते हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ और जानकारी के लिए हमे Facebook, Google News, YouTube, Twitter,Instagram और Telegram पर फॉलो करे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top