Knowledge

यह है भारत के प्रमुख ऐतिहासिक किले

विश्व के इतिहास पर यदि नजर डाली जाए तो राजतंत्र में किलो का निर्माण करना एक आम बात लगती है। राजाओं द्वारा निर्माण किए गए कई ऐसे किले आज विश्व में मौजूद है जो विश्व विरासत की सूची में शामिल किए जा चुकें है। भारत को यदि इस दृष्टि से देखा जाए तो यहां किलो का निर्माण चाहे वो आम लोगों के लिए हो या खास के लिए अपनी अदभुत वास्तुकला के लिए विश्वभर में प्रसि़द्ध है। वैसे तो भारत के हर राज्य में ऐसे कई किले मौजूद है जो अपने निर्माण की अलग कहानी लिए विश्व भर में विख्यात है। राजाओं द्वारा दुश्मन की सेना से बचाव के लिए कही पहाड़ो पर तो कही अदभुत वास्तुकला के साथ किलो का निर्माण किया गया। ऐसे ही किलो पर यदि दृष्टि डाली जाए तो अपनी ऐतिहासिकता और लोकप्रियता के चलते विश्वभर के पर्यटकों का ध्यान अपनी और आकर्षित करते है। तो वह है-

भारत के 10 सबसे लोकप्रिय मंदिर

पनाला फोर्ट, महाराष्ट्र (Panhala Fort, Maharastra)

महाराष्ट्र में कोलाहपुर के पास सहद्री पर्वत में इस किले का निर्माण किया गया था। यह किला मराठा शासकों की याद दिलाता है। महाराष्ट्र मे सबसे ज्यादा किलां का निर्माण छत्रपति शिवाजी महाराज के समय में किया गया था। महाराष्ट्र का पुंडागर किला, बहादुरगढ़ किला, रत्नगढ़ किला और अहमदगढ़ किले में पर्यटक ट्रैकिंग का आनन्द भी ले सकते है।

कांगडा फोर्ट, हिमाचल प्रदेश (Kangda Fort, Himachal Pradesh)

हिमाचल प्रदेश के कांगंडा घाटी में बाणगंगा ओैर माझी नदिया के संगम पर कांगडा के शाही परिवार ने इस किले का निर्माण किया था। ये किला दुनिया के सबसे पुराने किलो में शामिल है। ये हिमाचल का सबसे बड़ा किला और भारत का सबसे पुराना किलो में शामिल है। इस किले में बृजेश्वरी मंदिर है जिसका काफी महत्व है। किले और मंदिरों के अलावा हिमाचल अपनी खुबसूरती के लिए भी जाना जाता है।

गोलकुण्डा फोर्ट, हैदराबाद (Golkunda Fort, Haidrabad)

आंध्र प्रदेश के हैदराबाद शहर में काकतीय राजा ने बनवाया था। ये किला अपनी समृद्धि, इतिहास और राजसीय भव्य संरचना के लिए जाना  जाता है। गोलकुण्डा कोल्लुर झील के पास हीरे की खान के लिए भी प्रसिद्ध है। इस किले को हैदराबाद के सात अजूबों के रूप में भी जाना जाता है।

ग्वालियर फोर्ट, मध्यप्रदेश (Gwalior Fort, Madhya Pradesh)

ग्वालियर का किला राणा मानसिंह तोमर ने मध्यप्रदेश में बनवाया था। यह किला ऐतिहासिक स्मारकों में से एक है। इस किले में आकर्षण का केन्द्र है सास-बहू मंदिर और जरी महल है। इसमें म्यूजियम भी बनाया गया है। यह राजसीय स्मारक भारत के सबसे बड़ें किले में से एक है इस किले के महत्व को याद रखने के लिए इस पर डाक टिकट भी जारी किया गया है। यह मध्यप्रदेश के सबसे पंसदीदा टूरिस्ट स्थानों मे से एक है।

लालकिला, आगरा (Lalkila, Agra)

उत्तर प्रदेश के ताजमहल से दो किलोमीटर दूरी पर लालकिला बनवाया गया है। इस किले का निर्माण सिकंदर लोदी द्वारा आगरा में रहने के लिए बनवाया गया था। इस किले को विश्व विरासत की सूची में भी शामिल किया गया है। यह यमुना नदी के किनारे बनाया गया है। उत्तर प्रदेश के कई पर्यटक स्थलों में यह काफी प्रसिद्ध माना जाता है। इस लाल किले के अलावा झांसी किला भी अपनी कलाकारी के लिए प्रसिद्ध है। झांसी का किला महारानी लक्ष्मीबाई का किला है।

चित्तौड़गढ़ फोर्ट, राजस्थान (Chittorgarh Fort, Rajasthan)

चित्तौड़गढ़ को किलो का शहर कहा जाता है। यहां पर आपको सबसे भारत के सबसे प्राचीन और आकर्षक किलो का दीदार करने को मिल सकता है। उन्ही किलो में से एक चित्तर का किला है जो बैराज नदी के किनारे बनाया गया है। नदी के किनारे स्थित होने के कारण इसे पानी का किला भी कहा जाता है। क्योंकि इस किले में चौरासी पानी की जगह शामिल है जिसमें से वर्तमान में केवल 24 सही स्थिति में मौजूद है। यह किला महाराणा प्रताप का साक्षी बना हुआ है। इस किले में विजय स्तम्भ और राणा कुम्भा के नाम से दो प्रसिद्ध जलसाय है। इस किले अलावा आपको अंबर किला, तारागढ़ किला, जयगढ़ किला देखने को मिल सकते हे।

लाल किला, दिल्ली (Lal Kila, Delhi)

दिल्ली के सबसे प्रसिद्व और आकर्षक किलो में लालकिले का नाम आता है। इस किले का निर्माण मुगल शासक शाहजहां द्वारा किया गया था। इस किले की दीवारे की लाल पत्थर की बनी होने के कारण इस किले को लालकिला कहा गया। इस किले के अंदर मोती मस्जिद, दीवारे ए खास का दीदार करने काफी संख्या में पर्यटक आते है। इस किले में पुरातात्विक म्यूजियम और युद्ध से जुड़ी जानकारी हासिल हो सकती है। भारत में हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस के दिन लालकिले की प्राचीन पर प्रधानमंत्री द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है।

कुम्भलगढ़ फोर्ट, राजस्थान (Kumbhalgadh Fort, Rajasthan)

राजस्थान के राजसमंद में स्थित कुम्भलगढ़ किले का निर्माण महाराणा कुम्भा द्वारा करवाया गया था। इस किले की दीवार दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी दीवार है वहीं इस किले के अंदर 360 से ज्यादा मंदिर मौजूद है जिनमें से 300 प्राचीन जैन मंदिर तथा बाकी हिन्दू मंदिर है। इस किले को दुश्मन कभी अपने बल पर नहीं जीत पाया। इस किले में ऊचें स्थानों पर महल, मंदिर, और रहने के लिए इमारते बनावाई गई तो वहीं निचले स्थान पर कृषि कार्य किए गए।

Follow Us : Facebook Instagram Twitter

लेटेस्ट न्यूज़ और जानकारी के लिए हमे Facebook, Google News, YouTube, Twitter,Instagram और Telegram पर फॉलो करे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top