Tech

क्यों होते है आपके Mobile Apps Update? आपके सुरक्षा के लिए क्यों है जरुरी

kyu-hote-hai-mobile-apps-update
Kyu hote hai mobile apps update ?

स्मार्टफोन्स के क्षेत्र में क्रांति आने का सबसे मुख्य कारण मोबाइल एप्लिकेशन का बढ़ता इस्तेमाल और इसकी जरूरत को कहा जा सकता है। मोबाइल एप्लिकेशन्स जिन सुविधाओं के साथ इन स्मार्टफोन्स में मौजूद हाती है उससे हमारी जरूरत और भी ज्यादा आसान हो गई है। इन एप्लिकेशन्स को और भी सुविधाजनक बनाना व समय पर समय पर इनमें नए फीचर्स को शामिल करना अपडेट के रूप में सामने आता है। सिस्टम और एप्लिकेशन अपडेट हमेशा कम समय पर पॉप अप करने के लिए लगते है। और हम में से अधिकांश उन्हें दूसरे विचारों के बिना, दिनों, हफतों, महीनों के लिए स्थगित कर देते है। हालांकि, ये अपडेट सिस्टम की स्थिरता और सुरक्षा के एक आवश्यक टुकड़े का प्रतिनिधित्व करते हैं, जैसे कि कार्यक्षमता में वृ़द्ध और सुरक्षा छेद के लिए पैच के रूप में काम करना। अक्सर होता यह है कि हम मोबाइल एप्लिकेशन का अपडेट होने की प्र्रिक्रया को अनदेखा कर देते है। जिसमें देरी करने से उपयोगकर्ता अपने मोबाइल उपकरणों के हमलों के प्रतिरोध को कमजोर कर देते है। इन्हीं के कारण कभी कभी इन एप्लिकेशन्स में हैंग होने की समस्या के साथ साथ आपके मोबाइल के सिस्टम के साथ काम करना बंद कर देती हैं।

एक नियमित आधार पर, आपरेंटिग सिस्टम और मोबाइल एप्लिकेशन के कोड में सुरक्षा छेद यानि कोई परेशानी या समस्या उत्पन्न है की खोज की जाती है। एक बार पता लगाने के बाद, कंपनियां जल्दी से पैच विकसित करती है जो वे अपडेट के माध्यम से उपयोगकर्ताओं के धक्का देती है और साथ ही पूर्व संस्करण में मौजूद कमजोरियों का खुलासा करने वाले दस्तावेजों को प्रकाशित करती हैं। यदि ऐसी जानकारियां सार्वजनिक की जाती है तो साइबर अपराधी अपने अवैध लाभ के लिए पुरानी डिवाइस और एप्लिकेशन की कमजोरियों का फायदा उठा सकते है। इसलिए मोबाइल एप्लिकेशन से जुड़ी कंपनियां ऐसी समस्या को जल्द से जल्द सुलझाने का काम करती है चूंकि यह समस्या हैकर्स को विस्तरित अधिकार प्रदान कर सकती है जैसे कि डेटा या संचार को परामर्श देना और उसकी घुसपैठ करना।

साल .2017 में ब्रिटेन में नेशनल हेल्थ सर्विस पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम चला रही थी, जिससे इसकी पूरी रूपरेखा तैयार हो गई और यह डेटा हैकर्स के आसानी से उपलब्ध हो गया। इस लापरवाही के कारण पूरे संगठन को पंगु बनाकर 200,000 से अधिक पीड़ितो को चोट पहुंची थी। उसी साल एक दूसरी घटना भी सामने आई। इक्विफैक्स ने एक डेटा उल्लंघन की घोषणा की जिसने 143 मिलियन अमेरिकी नागरिकों की संवेदनशील व्यक्तिगत जानकारी को उजागर किया । इस समस्या का मूल कारण रहा मोबाइल एप्लिकेशन को अपडेट करने में पूरी तरह से कामयाबी का न मिलना। जिसके चलते एप्लिकेशन में उत्पन्न समस्या के सुलझने के बावजूद यह घटना सामने आई।

इसमें कोई दोहराय नहीं है कि एक अनपेक्षित भेद्यता के शोषण के कारण सिस्टम टेकओवर हो सकता है और प्रमुख डेटा उल्लंघन हो सकते है। जिसमें पहचान की चोरी और धोखाधड़ी करने के लिए गोपनीय विवरण जैसे सामाजिक सुरक्षा संख्या, क्रेडेंशियल्स, बैंकिग विवरण जैसी जानकारिंया चोरी हो जाती है। इसके अलावा, एक बार अपराध होने पर ये हमले संगठनों की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने वाली बुरी छवि विकसित करते है जिससे ग्राहकों और उपयोगकर्ताओं का कंपनी पर भरोसा करना और जटिल हो जाता है।

इसलिए ये उपयोगकर्ता के लिए जरूरी हो जाता है कि उपलब्ध होते ही ओएस और एप्लिकेशन अपडेट स्थापित किए जाने चाहिए और उन्हें जल्दी अपडेट किया जाना चाहिए। अप-टू-डेट डिवाइस और ऐप चलाना डेटा सुरक्षा की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है और डेटा ब्रीच के जोखिम को कम करने के लिए महत्वपूर्ण है। मोबाइल एप्स से जुड़े खतरों के रोकने के लिए प्रीडो सिक्योरिटी मोबाइल थ्रेट डिफेंस अपने सहयोगियों और उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले अनुप्रयोगों की अप-टू-डेटनेस पर नजर रखने के लिए उपकरण प्रदान करता है। ओएस और एप्लिकेशन संस्करणों को स्पष्ट रूप से पहचाना जाता है ताकि सुरक्षा उपायों को तदनुसार लागू किया जा सकें। इस प्रकार संबंधित खतरों को रोका जा सकता है।

हम अक्सर इन मोबाइल एप्लिकेशन को अपडेट करना इसलिए अनदेखा कर देते है क्यांकि हमें इस क्षेत्र से जुड़ी बातों की जानकारी नहीं होती। जैसा कि हम देख चुकें है। पिछले कई सालों में फेसबुक पर भी डेटा सार्वजनिक किए जाने का आरोप लगता रहा है जिसे उसके द्वारा पूरी तरह से नकारा भी नहीं गया। यह कहना गलत तो नहीं होगा कि आज हमारी आधे से ज्यादा जानकारी इन्हीं एप्लिकेशन पर आसानी से उपलब्ध हो जाती है। यह डाटा इन एप्लिकेशन पर कितना सुरक्षित है और कितना नहीं यह हम बता नहीं सकतें। लेकिन इससे जुड़ी हुई कंपनी इसे सुरक्षित रखने और अपने एप्लिकेशन में समय समय पर उत्पन्न होने वाली समस्या से उपयोगकर्ताओं को होने वाली परेशानी को कम करने के लिए ही इन एप्लिकेशन को अपडेट करने के लिए कहती है। इसलिए जरूरी है कि समय पर  अपने फोन्स को अपडेट किया जाए। ताकि अपनी जानकारियों से जुड़ी अन्य परेशानियों का सामना हमें न करना पडें।

Follow Us : Facebook Instagram Twitter

लेटेस्ट न्यूज़ और जानकारी के लिए हमे Facebook, Google News, YouTube, Twitter,Instagram और Telegram पर फॉलो करे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top