Tech

WhatsApp का मेड इन इंडिया ऑप्शन Sandes App सरकार ने किया लॉन्च

sandes app

डाटा प्राइवेसी को लेकर 2020 में हमने काफी बड़ी खबरें पढ़ी। इसके लिए सरकार ने कई इंटरनेट कंपनियों को अपने सर्वर भारत में लाने का आदेश दिया। सितंबर में सैकड़ों चीनी डेवलप एप्लीकेशन को भारत में बैन कर दिया गया और आत्मनिर्भर भारत कैंपेन के तहत भारतीय डेवलपर्स को सुरक्षित देसी एप्लीकेशन Develop करने का प्रोत्साहन दिया गया। साल 2020 में काफी कुछ घटना घटी और तब WhatsApp का नया भारतीय विकल्प “संदेश ऐप” (Sandes App) लांच हुआ। हाल ही में प्राइवेसी पॉलिसी में व्हाट्सएप नहीं बदलाव करके दुनिया भर में काफी आलोचनाएं झेली। करोडो यूजर्स ने टेलीग्राम और सिग्नल जैसे आपको इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। ऐसे में आप भारतीयों के लिए सरकार नया इंस्टेंट मैसेजिंग एप संदेश (Sandes App)को लेकर आया है।

Also Read : Whatsapp को Uninstall करके लोग Signal App को कर रहे है डाउनलोड, कैसे करे इसका इस्तेमाल ?

बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार भारत सरकार ने संदेश ऐप (Sandes App) लॉन्च किया है। जो व्हाट्सएप (Whatsapp) का ही एक इंस्टेंट मैसेजिंग एप्लीकेशन का विकल्प है। पूरी तरह से भारतीय है और फ़िलहाल ट्रायल बेसिस पर है। रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि संदेश ऐप (Sandes App) जिसे GIMS कहा जा रहा है। यह कुछ ही चुनिंदा सरकारी कर्मचारियों को ही इस्तेमाल करने के लिए दिया गया है। इसे गवर्नमेंट इंस्टेंट मैसेजिंग सिस्टम GIMS कहा जा रहा है। अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि आपको केवल सरकारी कामकाज के लिए पेश किया गया है या फिर इसे आम जनता के बीच संभाल कर पाएंगे।

इस साल की आरम्भ में WhatsApp ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किये थे, जिसके बाद Facebook के स्वामित्व वाली यह कंपनी सवालों के घेरे में आ गई थी। इसके बाद करोड़ों यूज़र्स ने Telegram और Signal जैसे ऐप का इस्तेमाल करना शुरू कर दियाt था। हालांकि व्हाट्सप्प के ऐप डेवलपर ने अपनी साफाई में साफ कहा था कि यह बदलाव आम यूज़र के लिए नहीं थे, बल्कि यह केवल बिजनस अकाउंट्स के लिए किए गए थे। लेकिन फिर भी, सरकार ने कंपनी से सवाल किए थे और यूज़र्स की निजी जानकारी को लेकर काफी चिंता व्यक्त की थी। ऐसा भी हो सकता है कि Sandes App  को इसी सभी कारणों के चलते लॉन्च किया गया हो। भारत के सरकारी काम-काज काफी संवेदनशील होते हैं और सरकारी कर्मचारियों को सन्देश ऐप का एक्सेस मिलना यह बताता है कि सरकार को फिलहाल WhatsApp पर पूरी तरह से भरोसा नहीं है।

इस रिपोर्ट की माने तो , यह ऐप Android और iOS दोनों ही प्लेटफॉर्म पर काम करता है। हालांकि फ़िलहाल यह दोनों ऐप ही ऐप स्टोर में उपलब्ध नहीं है। इस एप को अभी सीधे सरकारी कर्मचारियों को ही दिया जा रहा है। Sandes App नए मॉर्डन चैटिंग ऐप्स जैसा बनाया गया है, जिसमें चैटिंग के साथ-साथ यूजर वॉइस मैसेज और मीडिया फाइल्स को भी ट्रांस्फर करने का विकल्प भी मिलता है।

लेटेस्ट न्यूज़ और जानकारी के लिए हमे Facebook, Google News, YouTube, Twitter,Instagram और Telegram पर फॉलो करे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top