Tech

SpaceX और Amazon आमने-सामने

विश्व के दो सबसे अमीर आदमी बडें पैमाने पर उपग्रह इंटरनेट परियोजनाओं पर आमने सामने आकर खड़े हो गए है। जो उनकी कंपनियां विकसित कर रही है। स्पेसएक्स के सीईओ एलोन मस्क ने मंगलवार को टविटर पर लिखा‘‘ क्योंकि उनकी कंपनी संघीय संचार आयेग के अधिकारियों को मनाने के लिए काम करती है कि यह स्पेसएक्स को अपने कुछ स्टारलिंक उपग्रहों को मूल रूप से नियोजित की तुलना में कम उचांई पर ले जाने की अनुमति दे। जेफ बेजेस की अमेजनॅ उन कंपनियों में से है जिन्होंने स्पेसएक्स के अनुरोध को विवादित किया है, ये कहते हुए कि यह संशोधन अन्य उपग्रहों के साथ हस्तक्षेप करेगा। वही मस्क द्वारा भी पलटवार करते हुए कहा गया कि ‘‘ अमेजॅन उपग्रह प्रणाली के लिए आज स्टारलिंक को हैमस्टिंग करने के लिए जनता की सेवा नहीं करता है और कई वर्षो से दूर है। वही पलटवार का सिलसिला जारी रखते हुए अमेजॅन ने सीएनबीसी को एक बयान में मस्क की टिप्पणी का जवाब दिया।

‘‘ तथ्य सरल है। हमने स्टारलिंक के साथ हस्तक्षेप से बचने के लिए कुइपर सिस्टम को डिजाइन किया है, और अब स्पेसएक्स अपने सिस्टम के डिजाइन को बदलना चाहता है। वे परिवर्तन न केवल अंतरिक्ष में टकराव के लिए अधिक खतरनाक वातावरण बनाते हैं, बल्कि वे रेडियों हस्तक्षेप को भी बढ़ाते हैं। स्पेसएक्स द्वारा प्रस्तावित बदलाव के कारण उपग्रह प्रणालियों के बीच प्रतिस्पर्धा में बाधा उत्पन्न होगी। हां यह सही है कि वे कर सकते है। लेकिन यह निश्चित रूप से जनता के हित में नहीं है।

इस देश में दी जाती है कुत्ते के नाम पर छुट्टी, और बनाई गयी 50 फिट की सोने की मूर्ति

स्टारलिंक स्पेसएक्स की योजना है कि लगभग 12,000 उपग्रहों के साथ एक इंटरकनेक्टेड इंटरनेट नेटवर्क का निर्माण किया जाए, जिसे ग्रह पर कहीं भी उच्च गति इंटरनेट देने के लिए डिजाइन किया गया है। कक्षा में अब तक 1,000 से अधिक उपग्रहों के साथ, स्पेसएक्स ने अक्टूबर में एक सार्वजनिक बीटा कार्यक्रम शुरू किया।स्टारलिंक किट को ऑर्डर करने के लिए 499 अपफ्रंट कॉस्ट के अलावा, प्रारंभिक सेवा की कीमत 99 डॉलर प्रतिमाह है, जिसमें उपग्रहों से जुड़ने के लिए एक उपयोगकर्ता टर्मिनल और वाई फाई राउटर शामिल है। इस बीच अमेजॅन अपने स्वंय के उपग्रह इंटरनेट पर काम कर रहा है जिसे प्रोजेक्ट कुइपर कहा जाता हे। यह 3,236 इंटरनेट उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में लान्च करने की येजना बना रहा है। एक प्रणाली जो स्टारलिंक के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी। हालांकि दिसंबर में अमेजॅन ने एंटेना के लिए एक महत्वपूर्ण प्रारंभिक हार्डवेयर पारित किया। जिसे नेटवर्क से कनेक्ट करने की आवश्यकता है, फिर भी उसने अपने उपग्रहों का उत्पादन या लान्च करना शुरू कर दिया है।

जुलाई महा में एफसीसी ने कुइपर के लिए, अमेजॅन के प्रस्ताव को अधिकृत किया, जिसके बारे में कंपनी का कहना है कि इसे बनाने में 10 बिलियन डॉलर से अधिक का निवेश हेगा। वहीं एफसीसी की एक प्रस्तुति में, स्पेसएक्स के निदेशक गोल्डमैन ने कहा कि अमेजॅन के प्रतिनिधियों ने ‘‘स्पेसएक्स का विरोध करने के लिए 30 बैठकें की है लेकिन कोई भी बैठक अपने स्वंय के सिस्टम को अधिकृत करने के लिए नहीं है, यह तर्क देते हुए कि प्रोद्योगिकी की दिग्गज कंपनी प्रतिस्पर्धा करने के लिए प्रयास कर रही है।

दिसंबर माह में अमेजॅन के ्रपतिनिधियों ने एफसीसी अध्यक्ष अजीत पई के साथ स्पेसएक्स के अपने स्टारलिंक योजनाओं को संशोधित करने के अनुरोध के बारे में बात की। अमेजॅन ने पूछा कि एफसीसी ने स्पेसएक्स के उपग्रहों को 580 किलोमीटर की न्यूनतम उचांई तक सीमित कर दिया है जब तक कि नियामक महत्वपूर्ण हस्तक्षेप चिंताओं पर विस्तृत रिकॉर्ड का मूल्यांकन नही करता तब तक स्पेसएक्स के संशोधन को प्रस्तुत नहीं किया जाए।  वहीं स्पेसएक्स ने संकेत दिया है कि यह 580 किमी से अधिक के बिना अपनी प्रणाली को संचालित करने में सक्षम है और यह प्रदर्शित नहीं किया है कि ऐसी स्थिति तुरंत प्रभावी क्यों होनी चाहिए।

स्पेसएक्स ने युनाइटेड किंगडम और कनाडा के ग्राहकों को शामिल करने के लिए अपने बीटा प्रोग्राम का विस्तार किया हे। कंपनी व्यापक रूप से अंतरराष्टीय स्तर पर स्टारलिंक एक्सेस का विस्तार करना चाहती है, जिसमें सार्वजनिक रिकॉर्ड अॅास्ट्रिया, आस्ॅट्रेलिया, अर्जेटीना, ब्राजील, फं्रास, चिली, कोलंबिया, जर्मनी, ग्रीस, आयरलैंड, इटली, मैक्सिको, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड में पंजीकृत है। वहीं कंपनी के 17 वे मिशन के बाद साठ स्टारलिंक उपग्रह कक्षा में तैनात है।

एक निचला कक्षा इंटरनेट सेवा को तेज करने की अनुमति देता है क्योंकि सिग्नल दूर तक यात्रा नही करता है। स्पेसएक्स ने एफसीसी को बताया कि पृथ्वी के करीब उपग्रहों के होने से अंतरिक्ष मलबे को खतरा कम होता है क्योंकि वे उच्च अंतरिक्ष यान की तुलना में अधिक तेजी से कक्षा से बाहर गिर जाते हैं। स्पेसएक्स ने अंततः कुछ 12,000 उपग्रहों को संचालित करने की योजना बनाई है और लगभग 4,400 पक्षियों के लिए एफसीसी प्राधिकरण जीता हैं, जिसमें 1,584  500 किलोमीटर की दूरी पर है- जहां इसके उपग्रह वर्तमान में कक्षा में है। कंपनी एक ही अनुमानित उंचाई पर 2,824 उपग्रहों को स्टेज करने की अनुमति मांग रही हैं, बल्कि मूल रूप से प्रस्तावित दो गुना अधिक है।

Follow Us : Facebook Instagram Twitter

लेटेस्ट न्यूज़ और जानकारी के लिए हमे Facebook, Google News, YouTube, Twitter,Instagram और Telegram पर फॉलो करे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top